Education

Ssc CGL CHSL CPO GD Exam की तैयारी कैसे करें

Ssc Ki Taiyari Kaise Kare

SSC exams की तैयारी करना सरल नहीं है, क्योंकि इस विभाग के नौकरी पाने वाले विद्यार्थियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। ऐसे में नये विद्यार्थियों के लिए सही दिशा में सही प्रयास करने की आवश्यता है। सरकारी नौकरी की तैयारी करना कोई साधारण कार्य नहीं है, किन्तु जब कोई विद्यार्थी सही पुरूषार्थ करता है तो उसे लक्ष्य की प्राप्ति अवश्य होती है, क्योंकि किया हुआ कर्म विफल नहीं जाता है, कुछ न कुछ फल तो अवश्य मिलता ही है।

Ssc Ki Taiyari Kaise Karene Ke Liey Tips

  • सबसे पहले एस एस ई(ssc) की ऑफिशियल वेबसाइट से प्रश्नपत्र का सिलेबस व पैटर्न डाउनलोड कर ले। तत्पश्चात इसमें दिये गये विषयों को नोट कर ले या प्रिंट भी करा सकते है। सही सैलेबस पढ़ने से फालतू की जानकारी व मेहनत से बच जाएंगे और समय की भी बचत होगी। 
  • गणित, रीजनिंग, सामान्य ज्ञान व अंग्रेजी विषयों के की तैयारी के लिए बाजार में उपलब्ध विश्वसनीय पब्लिकेशन की पुस्तके, नोट्स व पिछले वर्ष के प्रश्न पत्र खरीद ले। आप चाहे तो किसी अच्छी कोचिंग संस्थान का ऑनलाइन स्टडी मटेरियल भी खरीद सकते है।
  • प्रतिदिन 2 से 3 सब्जेक्ट का अध्ययन करते रहे और शार्ट नोट्स भी बनना आवश्यक है, क्योंकि ये नोट्स रिवीजन टाइम में समय की बचत करते है।
  • जब आप किसी विषय अथवा टॉपिक को पढ़ते है तो उसके मूल(root) को समझने का प्रयत्न करे, ऐसा करने से आप सभी प्रश्नो को सही हल करने में सक्षम हो जाते है। खासकर गणित जैसे विषय में।
  • यदि प्रश्न हल करते समय कोई कॉन्सेप्ट समझ न आये तो उस सवाल को चिन्हित कर ले और अपने किसी सहपाठी अथवा गुरू से सही हल प्राप्त करने के लिए पूछे। इसके अलावा आप इंटरनेट पर अपना प्रश्न टाइप कर सही उत्तर व हल प्राप्त कर सकते है।
  • सभी विषयों में कुछ प्रश्न ऐसे होते है जिन्हे एक साधारण विद्यार्थी हल नही कर पाता है, ऐसे प्रश्नो को अपनी पुस्तक व डायरी में उनके शार्ट हल सहित लिख ले और समय मिलने पर उनका रिवीजन व अभ्यास करते रहे। ऐसा करने से एस एस ई के सभी पेपर में आपकी question attempt की संख्या में वृद्धि होगी और उत्तीर्ण होने की संभावना कई गुना बढ़ जायेगी।
  • अपने सिलेबस को कम्पलीट करने के लिए 5-6 महीने का लक्ष्य रखे, और उसके पश्चात पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रो को सॉल्व करने का प्रयास करते रहे।
  • सप्ताह में कम से कम एक ऑनलाइन मॉक टेस्ट अवश्य दे. इससे आपके भीतर आत्मविश्वास बढ़ेगा, और टाइम मैनेजमैट भी सीखनो को मिलेगा। जब मॉक टेस्ट का परिणाम आये तो प्रत्येक प्रश्न को बारीकी से चिंतन करे, गलत प्रश्नो का सही हल खोजें और पुनः हल करने का प्रयास करे।  
  • सैलेब्स के समाप्त होने पर शार्ट नोटस के माध्यम से एक फास्ट रिविजन करे इसकी समय सीमा भी कम ही होनी चाहिए।
  • अपनी तैयारी की जाँच पडतान करने के लिए मोबाइल एप या कम्पयूटर पर विषयानुसार डेली मिनी मॉक किव्ज टेस्ट का प्रयास करते रहे। ऐसा करने से प्रतिदिन रिविजन होता रहता है और पढ़ा हुआ विषय लम्बे समय तक याद रहता है।
  • पेपर सॉल्व करने की सरल विधि जानने के लिए सदैव तत्पर रहे और बिना संकोच किये अगर कोई फास्ट ट्रिक सीखने को मिल जाये तो उसे तुरंत सीख ले और कही नोट भी कर ले ताकि भूले नहीं।

एक ही पुस्तक का कई बार रिविजन करें।

बहुत सारे विद्यार्थी एक ही विषय की विभिन्न किताबे खरीदकर अभ्यास करते रहते है, लेकिन यह सही स्ट्रेटेजी नहीं होती है. इसमें समय व ऊर्जा का ज्यादा उपयोग होता है। इसके सबसे बेहतर उपाय यह है कि आप जब कोई पुस्कतक खरीदते है तो किसी विश्वशनीय लेखक अथवा पब्लिकेशन की ही पुस्तक खरीदें और इसका कई बार अभ्यास करते रहे। जब कभी भी समय लगे तो उन्ही पुस्तको को पुनः दोहराते रहे. इससे आपका लॉजिक व कॉन्सेप्ट एकदम पक्का हो जाता है और प्रश्न को हल करने की शक्ति में वृद्धि होती है। 

फ्री Mock Quiz यहाँ पर उपलब्ध है

प्रतिदिन 1 घंटा योग अवश्य करें

विद्यार्थी के मन व शरीर का स्वस्थ होना अत्यन्त आवश्यक होता है, एक स्वस्थ शरीर वाला विद्यार्थी ही सही से विद्या ग्रहण कर पाता है। जबकि एक बीमार हमेशा दुख दर्द का अनुभव करता है, जिससे उसका पढ़ाई में कभी मन नहीं लगता है। जो कोई विद्यार्थी प्रतिदिन योग करता है उसका शरीर व मस्तिष्क स्वस्थ बन जाता है. योग करने से पर्याप्त ऑक्सीजन हमारे शरीर के भीतर जाती है जिससे शरीर के विकार दूर होते है, साथ ही योग करने से शरीर की गंदगी पसीने के रूप में बाहर निकल जाती है। जिससे विद्यार्थी सुख का अनुभव करता है और योग करने वाले को नींद भी अच्छी आती है। 

नकारात्मक व्यक्ति व विचारो से दूर रहे

विद्यार्थी का मस्तिष्क बहुत जल्दी भटक जाता है, बहुत सारे नकारात्मक लोग सच्चे विद्यार्थियों का ध्यान भटकाने का प्रयास करते रहते है। इसके अलावा बाहर की चकाचौंध चमक-धमक मन को तुरंत भटका देती है। इसलिए विद्यार्थी को नकारात्मक लोगों  से सदैव दूर रहना अत्यंत आवश्यक है।

यह भी पढ़े-

सेल्फ स्टडी कैसे करें

You may also like