Education

Social Media Ke Fayde Aur Nuksan : सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान

Social Media Ke Fayde Aur Nuksan

आज हमने अपने इस लेख में सोशल मीडिया के लाभ और हानि अपने पाठको को बताने का प्रयास किया है।

सोशल मीडिया वर्तमान समय की सबसे लोकप्रिय मीडिया एवं मनपंसंद सूचनाओ के आदान प्रदान का माध्यम है। इसके द्वारा कोई भी व्यक्ति सोशल मीडिया पर अपना अकाउंट बनाकर देश दुनिया की सभी खबरे जान सकते हैं साथ ही अपनी राय, अनुभव व ज्ञान लोगों से साझा कर सकते हैं। व्यक्ति अपनी सामाजिक, आर्थिक व न्यायित समस्याएं सरकार तक सोशल मीडिया के माध्यम से पहुँचा सकते हैं। लोग विभिन्न प्रकार से आर्थिक, रोजगार, बिजनेस, राजनीतिक, सामाजिक, रिलीजन , न्यायिक, शिक्षा, चिकित्सा आदि क्षेत्रों में सोशल मीडिया के माध्यम से लाभ उठाते हैं।

 

परंतु कोई वस्तु अथवा विषय लाभ के साथ हानि भी कई प्रकार से पहुँचाता हैं।  सोशल मीडिया के नुकसान भी अनेको हैं। सोशल मीडिया के द्वारा लोग विभिन्न प्रकार की भ्रांतियां, अफवाह, झूठ, गलत समाचार, भड़काऊ पोस्ट व चित्र, विदेशी ऐजेंडा, सामाजिक व राजनीतिक अराजकता, पैसों का फ्रॉड, झूठे बिजनेस करना, नकली व जाली उत्पाद बेचना, गैरकानूनी गतिविधि करना आदि सोशल मीडिया के नुकसान लोगों द्वारा समाज व देश को पहुँचाये जाते हैं।

 

आइए संक्षेप में कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओ के माध्यम से सोशल मीडिया के फायदे और नुकसान पर चर्चा करते हैं। 

Social Media Ke Fayde Aur Nuksan In Hindi
Social Media Ke Fayde Aur Nuksan

Social Media Ke Nuksan (सोशल मीडिया के नुकसान)

सोशल मीडिया के नुकसान इस प्रकार है –

  • लोगो को गलत, झूठी, भ्रम युक्त व फर्जी सूचना एवं जानकारी प्रदान की जाती हैं।
  • ऑनलाइन पैसों का फ्रॉड, असत्य समझौते, पैसे की चोरी, नकली बिजनेस आदि किया जाता है।
  • कंपनियां एवं लोग ऑनलाइन बिजनेस के माध्यम से लोगों को प्रतिदिन कुछ ही घंटो में कई हजारो रूपये कमाने का लालच देकर मेम्बरशिप एवं पैसों की डिमांड करते है और दूसरे लोगों को बेवकूफ बनाना एवं लूट लेते हैं।
  • राजनीतिक पार्टियां स्वयं वोट बैंक एवं सत्ता के फायदे के लिए प्रजा के सामने लोगो को भडकाने, समाज में दंगे करवाना, विभिन्न जातियों के लोगों का आपस में झगड़ा करवाना, देश विरोधी ताकतों का साथ देना, देश की अखंडता व सुरक्षा को तोडना, झूठे वादे करना, जनता के पैसों का गैरकानूनी रूप से प्रयोग करना आदि कार्य किये जाते हैं।
  • विद्यार्थियों द्वारा इंटरनेट ब्राउज़र, इंस्टाग्राम, ट्विटर, फेसबुक, सनैप चैट आदि पर दिन रात समय खराब करना, फलस्वरूप उनकी शिक्षा एवं मस्तिष्क की एकाग्रता का नकारात्मक रूप से प्रभावित होता है।
  • देर रात तक सोशल मीडिया  चैनल पर ऑनलाइन रहना एवं देर रात में सोना व दिन में देर से जगना। परिणाम ऑफिस लेट पहुँचना, सुबह का नाश्ता ना करना, कार्य में मन ना लगना, दिनभर थकान आलस्य व नींद आना आदि लक्षणों को घटित होना।
  • ट्विटर एवं फेसबुक पर कुछ सेलिब्रिटी, सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर एवं अन्य फेमस व्यक्तियों द्वारा बहुत अधिक पैसे लेकर भड़काऊ पोस्ट शेयर करना एवं लोगो को भडकाना व देश में अशांति फैलाना।
  • विद्यार्थियों व युवा वर्ग को लुभाने वाली गंदी सामग्री चित्र, मैसेज व विडियो फिल्म के माध्यम से प्रस्तुत करना। फलस्वरूप विद्यार्थी व युवा वर्ग को उनके लक्ष्य से भ्रमित कर उनके भविष्य का सर्वनाश करना।
  • ओ टी टी प्लेटफार्म के माध्यम से  जनता को लुभाने वाली नकारात्मक व भ्रमित समाग्री प्रसतुत करना ।

 

Social Media Ke Fayde (सोशल मीडिया के फायदे)

सोशल मीडिया के फायदे इस प्रकार है –

  • अपना रोजगार, बिजनेस, दुकान, सर्विस, उत्पाद आदि का प्रचार एवं कमाई करते हैं।
  • ब्रांड अवेयरनेस एवं जनता तक किसी खास प्रकार के प्रोडक्ट जानकारी पहुँचाने एवं बेचने में प्रभावी रूप से सहायक हैं।
  • साधारण जनता एवं सरकार, सेलब्रिटी, उच्च अधिकारी के बीच संवाद का महत्वपूर्ण साधन हैं। 
  • समाज के लोग न्याय, रोजगार, स्वास्थ्य, शिक्षा, सुरक्षा अथवा अन्य किसी प्रकार की समस्या के समाधान के लिए सीधी प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री एवं जिलाधिकारी व अन्य बड़े अधिकारी अथवा मान्य गणो तक अपनी बात पहुंचाते हैं। 
  • विभिन्न आर्थिक, राजनीतिक व देश सुरक्षा आदि विषयों पर लोग सोशल मीडिया के माध्यम से एक दूसरे से संवाद, वाद विवाद एवं चर्चा कर इसका सही समाधान निकालने का प्रयत्न करते हैं। 
  • घर बैठे रोजगार, शिक्षा, चिकित्सा, कानूनी सलाह, मोबाइल सेवा, भोजन सेवा, आदि की व्यवस्था का उपलब्ध होना।
  • किसी भी प्रकार गुण या टैलेंट को दुनिया के सामने प्रसतुत कर प्रसिद्धि व ख्याति प्राप्त करना।
  • नये प्रकार के देश विदेश मित्र बनाना एवं उनसे एक दूसरे के देश की सभ्यता,संस्कृति, तकनीकी , शिक्षा, अच्छी वस्तुएं, रोजगार आदि पर चर्चा करना।
  • जन्मदिन, विवाह, खुशहाली के अवसर पर पोस्ट के माध्यम से सभी मित्रो को चित्र, वीडियो आदि  सूचित करना।
  • विख्यात सेलिब्रिटी एवं राजनेताओं को उनके अच्छे कार्यों पर बधाई एवं बुरे कार्यो पर निंदा करना।
  • विभिन्न स्थानों व देश विदेश के लोगों का समूह बनाकर ऑनलाइन गेम्स खेलना।
  • समाचार पत्रो व टीवी चैनलों की खबरे का लगातार रूप से अपडेट प्राप्त करना व उन पर कमेंट, लाईक व डिसलाइक कर फीडबैक प्रदान करना।
  • लोकल स्तर पर जॉब प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन जॉब पोर्टल पर आवेदन करना।
  • विभिन्न प्रकार के नये व पुराने उत्पादों को अपने आस पास के लोगो बचना।
  • समाज की बुराई व अच्छाई पर बहस करना एवं लोगो को जागरूक करना।
  • समाज सुधार, फ्री भोजन सर्विस व जल सुविधा, गरीबों की सहायता आदि का प्रचार व प्रसार करना।
  • एक दूसरे की समस्याओं का समाधान प्रदान करना।

 

Social Media Ka Mahatva (सोशल मीडिया का महत्व)

यह हम पर निर्भर है कि हम किस प्रकार किसी वस्तु व विषय का सदुपयोग व दुरुपयोग करते हैं। मनुष्य द्वारा निर्मित किसी भी विषय एवं वस्तु एक सीमा से अधिक उपयोग के नुकसान व नकारात्मक प्रभाव मनुष्य के शरीर व मस्तिष्क पर दिखाई देते हैं।

अतः सोशल मीडिया का उपयोग भी सोच समझकर करना चाहिए। आज सोशल मीडिया पर प्रत्येक प्रकार का अच्छा एवं दुष्ट व्यक्ति सेवाएं उपयोग कर रहा है। इसलिए हमें दूसरों के बहकावे, लालच व छलावे में ना आकर अपनी बुद्धि व तर्क से अच्छे बुरे का संज्ञान लेना चाहिए। हमें ऐसी प्रत्येक गतिविधि व व्यक्ति से दूर रहना चाहिए जो गैरकानूनी व अमान्य है।

इंटरनेट व सोशल मीडिया पर बुरी प्रकार की गंदी व भद्दी सामग्री चित्र व विडियो के माध्यम से जनता के सामने प्रस्तुत की जाती हैं। जिससे लोग आकर्षित होते हैं, इसमें मुख्य रूप से विद्यार्थी वर्ग बुरी तरह से प्रभावित होता हैं एवं इन गंदे व बुरे  विषयों के प्रति लगाव कर अपनी विद्या अध्ययन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता हैं।

यह भी पढ़े – Internet Ke Labh Aur Hani

Social Media Par Niyantran (सोशल मीडिया पर नियंत्रण )

किसी भी देश की सरकार द्वारा सोशल मीडिया पर नियंत्रण व इंटरनेट पर नियंत्रण बहुत आवश्यक है। इंटरनेट के माध्यम से हो रही देश विरोधी अमान्य गतिविधियों को नियंत्रित करने के लिए लिए सरकार को तुरंत आईटी एक्ट बनाकर नया कानून देश की संसद द्वारा लागू करना चाहिए। उन प्रत्येक प्रकार के व्यक्तियों के प्रति तुरंत एक्शन लेना चाहिए जो गलत तरीके से पैसों का फ्रॉड, जातिवाद को भड़काना, ग्राहको से पैसे लेकर सर्विस प्रदान न करना, फर्जी ऑनलाइन कंपनियां, गैरकानूनी गंदे चलचित्र पोस्ट, विदेशी ऐजेंडा से प्रभावित देश की सुरक्षा व अखंडता को नुकसान पहुंचाने वाले लोगो व संगठन, विद्यार्थियों व युवा वर्ग को सही मार्ग से भटकाने की कोशिश करने वाले लोगों के प्रति सख्त कार्रवाई व सजा का प्रावधान हो। ऐसे कानून बनाने में सरकार तनिक भी विलम्ब न करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like