Health

How To Remove Tension In Hindi – मानसिक तनाव को कैसे दूर करें

how to remove tension in hindi

मानसिक तनाव(tanav) एक बहुत ही गंभीर किस्म की स्थिति हैं। जिसमें व्यक्ति हमेशा चिंता में खोया रहता है। परिणाम स्वरूप उसका किसी भी काम धंधे में मन नहीं लगना, वह बहुत ही निराश व अकेला महसूस करता है। व्यक्ति को अपना जीवन बोझ दिखाई देने लगता है। आजकल लगभग हर एक व्यक्ति तनाव(tension) से ग्रस्त हैं। इसका कारण हमारी आधुनिक लाइफस्टाइल हैं। आज के समय में मनुष्य बहुत अधिक व्यस्त हो गया है जिस कारण उसका मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य बेकार होता जा रहा। आज मनुष्य पर सिर्फ अधिक से अधिक पैसा व शोहरत कमाने का जुनून सवार है। युवाओं के बीच बेरोजगारी एक बड़ी समस्या है। माता-पिता अपने बच्चो के भविष्य के लिए हमेशा चिंतित रहते हैं। लोगों का मानना है कि अगर अच्छा रोजगार होगा तो जीवन भी अच्छा होगा। यह बात कहाँ तक सही है कहा नहीं जा सकता । लेकिन पैसा जीवन का के लिए बेहद जरुरी है यह बात सत्य है। क्योंकि पैसा बहुत सी समस्याओं का समाधान हैं।

Tanav Ke Lakshan(तनाव के लक्षण क्या है)

  • उदास अथवा हमेशा निराश रहना।
  • कम नींद आना।
  • हमेशा चिड़चिड़ा रहना।
  • बहुत अधिक क्रोध आना।
  • किसी भी कार्य में मन ना लगना।
  • रात को सोते समय बेचैनी महसूस होना।
  • भ्रमित रहना।
  • दिनभर कल्पना में खोये रहना।
  • आत्मविश्वास का लगातार कम होना।
  • भूख कम लगना।
  • लम्बे समय तक बहुत अधिक डरपोक बने रहना।
  • अकेलापन महसूस करना।
  • लोगो व करीबियों से बातचीत बंद या कम कर देना।

 

Tanav Kyu Hota Hai (तनाव क्यों होता है)

तनाव क्यों होता हैं इसके बहुत से कारण हैं। आजकल मनुष्य की जीवनशैली बहुत ही अस्त व्यस्त हो गयी है। आज मनुष्य के जीवन में समय की कमी महसूस होती है। लोग ज्यादा से ज्यादा सुख सुविधा पाने की होड़ में लगे हैं। इसके लिए वे अधिक से अधिक पैसा कमाने के तरीके खोजते रहते हैं। वे समझते है कि आधुनिक सुख सुविधाओं को अपनाने से जीवन खुशहाल होगा। लेकिन ऐसा नहीं हो पाता। सारी सुख सुविधा पाने पर भी लोगों की चिंताएं समाप्त नहीं होती है। ऐसा नहीं है कि केवल पैसा ही तनाव का कारण है। वे सभी लोग जो संपन्न अथवा अमीर है वो भी तनाव से कही ना कही ग्रस्त हैं। 

आज मनुष्य अपनी न्यूनतम जरूरतों से अधिक सब कुछ पा लेना चाहता है। यही तनाव का कारण बनता हैं। 

  • पैसे की कमी होना।
  • बेरोजगारी
  • गंभीर बीमारी से लम्बे समय तक ग्रस्त रहना।
  • पारिवारिक समस्या का निवारण ना होना
  • ऋण संबद्धी सम्सयाँ।
  • वैवाहिक समास्यो का होना।
  • मनचाहा करियर या रोजगार न मिलना।
  • परीक्षा में असफल होने का भय होना।

Jyada Tension Lene Ke Nuksan (ज्यादा टेंशन लेने के नुकसान)

ज्यादा टेंशन लेने से मनुष्य की स्मृति में विकार आना, अधिक आलस्य आना, उदास जीवन, सदा नकारात्मक विचार आना, जीवन दुःख प्रतीत लगना, आचार विचार खराब हो जाना, अकेले रहना, घबराहट अनिद्रा, व्यक्तियों से झगडा करना, काल्पनिक दुनिया में खोये रहना, लगातार पेट खराब रहना, हृदय की धड़कन तेज होना, तेजी से वजन कम होना, लगातार सोचने की बीमारी, कुछ भी करने का मन नहीं करता इत्यादि ज्यादा टेंशन लेने के नुकसान हैं।

Tanav Dur karne ke Upay (तनाव दूर करने के उपाय )

तनाव दूर करना बहुत ही आवश्यक है। इसके लिए आप निम्न तरीके अपना सकते हैं।

  • प्रतिदिन योग करना।  (योगा करने के फायदे )
  • आप चाहे तो जिम भी कर सकते हैं।
  • कोई खेल (फुटबॉल,क्रिकेट, बैडमिंटन आदि) खेलना।
  • सुबह अथवा शाम को पार्क अथवा खुली जगह घूमना।
  • स्विमिंग करना।
  • दौड लगाना।
  • संगीत सुनना।
  • अच्छा व पौष्टिक भोजन करना।
  • भरपूर नींद(7 से 8 घंटे ) सोना।
  • अच्छी जगहों पर यात्रा पर जाना ।
  • जॉब अथवा व्यवसाय से समय समय पर छुट्टी लेना।
  • प्राकृतिक दृश्यों व स्थानों से जुड़े रहना।
  • प्रतिदिन कुछ समय केवल परिवार के सदस्यों के लिए ही देना।

तनाव से मुक्ति में संगीत का महत्व (Tanav Se Mukti Me Sangeet Ka Mahatva)

संगीत एक ऐसी विद्या व कला है जो प्रत्येक बीमारी व मानसिक तनाव को दूर कर सकती हैं। संगीत के द्वारा मस्तिक्ष व हृद्य को अच्छा अनुभव होता हैं। अतः संगीत सुनना व संगीत गायन से अच्छे मस्तिष्क हार्मोन स्रावित होते है, जो मनुष्य शरीर के विभिन्न अंग को ठीक करना व सकारात्मक ऊर्जा प्रदान कर तनाव का विनाश करता हैं। संगीत मन प्रफुल्लित कर देता हैं एवं जीवन को नई दिशा प्रदान करता हैं। यह व्यक्ति के मन व हृदय को उमंग से भरकर नकारात्मक विचारों का नाश व सकारात्मक विचार उदय करता हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

You may also like